May 30, 2020

तेज रफ्तार से बढ़ रहा है तूफान ‘अम्पन’, प्रभावित हो सकते हैं पश्चिम बंगाल ये जिले

भुवनेश्वर । चक्रवात ‘अम्फान’ प्रचंड चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है और वह उत्तरपूर्व बंगाल की खाड़ी की तरफ बढ़ सकता है। 20 मई को पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप के बीच तटों से टकरा सकता है। इस बीच अम्फान पश्चिम‑मध्यम और उसके साथ सटे बंगाल की पूर्व‑मध्य खाड़ी से होते हुए पिछले 6 घंटे में 14 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-उत्तरपूर्व की ओर बढ़ा है।

मौसम विभाग के अनुसार, अम्फान मंगलवार सुबह 5:30 बजे पश्चिम‑मध्य बंगाल की खाड़ी में लगभग 520 किमी की दूरी पर स्थित पारादीप के दक्षिण ओडिशा में केंद्रित रहा। अगले 6 घंटों के दौरान इस चक्रवाती तूफान के थोड़े कमजोर होने की संभावना है। वहीं, यह उत्तर-उत्तरपूर्व की तरफ बढ़ेगा और तेजी से उत्तरपश्चिम बंगाल की खाड़ी पहुंचेगा और भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में दीघा और हटिया के बीच पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटों से टकराएगा।

ओडिशा में तटीय क्षेत्र के लोगों को निकालना किया शुरू
‘अम्फान’ को देखते ओडिशा के जगतसिंहपुर के तटीय क्षेत्रों के निवासियों को बीती रात चक्रवात के आने की संभावना को देखते हुए सुरक्षित जगह पर भेजा गया है, ताकि उन्हें अम्फान के कारण होने वाली भारी बारिश और हवाओं से बचाया जा सके। मछुआरों से 21 मई तक समुद्र में नहीं जाने को कहा गया है। साथ ही साथ गंभीर घटनाक्रम को ध्यान में रखते हुए एनडीआरएफ ने जानमाल की हानि/क्षति रोकने के लक्ष्य से बल की 53 टीमें तैनात की हैं।

ओडिशा में आज कई जगह हल्की बारिश की संभावना
मौसम विभाग के अनुसार, तटीय ओडिशा में भी आज कई स्थानों पर हल्की से मध्यम स्तर की बारिश होने की संभावना है। उत्तरी तटीय ओडिशा में जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, जाजपुर, बालासोर, भद्रक और मयूरभंज जिलों में कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है और खोरधा तथा पुरी जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। उत्तरी ओडिशा में बालासोर, भद्रक, मयूरभंज, जाजपुर, केंद्रपाड़ा और क्योंझर जिलों में 20 मई को भी कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

पश्चिम बंगाल के ये जिले आ सकते हैं अम्फान की चपेट में
भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, तूफान 20 मई को पश्चिम बंगाल के दीघा द्वीप तथा बांग्लादेश के हतिया द्वीपसमूह के बीच दस्तक दे सकता है। इस दौरान हवाओं की रफ्तार 165 से 175 किलोमीटर प्रति घंटे की रह सकती है, जो 195 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में 19 और 20 मई को भारी से काफी मूसलाधार बारिश होगी। इन जिलों में पूर्वी मिदनापुर, दक्षिण और उत्तर 24 परगना, हावड़ा, हुगली और कोलकाता हैं। तूफान के दस्तक देने के दौरान समुद्र से करीब चार से छह मीटर ऊंची तूफानी लहरें आने के कारण दक्षिण और उत्तर 24 परगना जिलों के निचले इलाके जलमग्न हो सकते हैं।

अपने मित्रों के साथ शेयर करें