May 24, 2020

केंद्र का विरोध ममता की आदत : दिलीप

कोलकाता। भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई ने एक बार फिर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोला है । प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने मुख्यमंत्री पर पलट वार करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री की केंद्र सरकार का विरोध करने की आदत बन गयी है।

घोष ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए मु्ख्यमंत्री द्वारा केंद्रीय आर्थिक पैकेज का विरोध करने व राज्य सरकार को कुछ नहीं मिलने की शिकायत पर कहा, “यदि राज्य सरकार को कुछ नहीं मिलता, तो पूरे देश में अब तक विरोध शुरू हो जाता। वास्तव में उन्हें केंद्र सरकार के विरोध की आदत हो गयी है और वह हर जगह केवल राजनीति ही करती हैं।

घोष ने कहा कि चक्रवाती तूफान “अम्पन” राज्य के दरवाजे पर दस्तक दे रहा है। केंद्र सरकार ने एनडीआरएफ की टीम भेजी है। राज्य सरकार को तैयारी करनी है, ताकि कम से कम राज्य के लोगों को नुकसान हो, लेकिन राज्य सरकार इसमें भी राजनीति कर रही है। केंद्र सरकार ने लॉकडाउन के तहत छूट व नियम बनाने का अधिकार राज्य सरकार पर छोड़ दिया है। अब राज्य सरकार यह निर्णय लेगी कि किन क्षेत्रों में छूट देनी है व इसका पालन कैसे करना है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने आरंभ से ही लॉकडाउन का पालन नहीं किया है। अब हॉकर बाजार खोलने की घोषणा की गयी है। उससे सोशल डिस्टेंसिंग (दो गज दूरी) का पालन कैसे होगा?

महानगर में निजी बसों की समस्या पर घोष ने कहा कि मुख्यमंत्री दुकान और बाजार खोल की घोषणा कर दी हैं। कार्यालय खोले जा रहे हैं, लेकिन यदि बसें नहीं रहेंगे, तो लोग कैसे आयेंगे? रास्ते पर सरकारी बसें नहीं हैं। राज्य सरकार को बस मालिकों के साथ बैठकर रास्ता निकालना चाहिए तथा इस समस्या का समाधान करना चाहिए।

मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में तीन लाख प्रवासी श्रमिकों के बंगाल लौटने के बयान पर घोष ने कहा कि मुख्यमंत्री कह रही हैं कि 16 ट्रेनें आयी हैं। यदि उनकी बातों पर विश्वास करे, तो 16 ट्रेनों से ज्यादा से ज्यादा 2500 लोग आये होंगे। उन्होंने सवाल किया कि बाकी लोग किन रास्तों से आयें और उनके लिए क्वारेंटाइन (एकांतवास) की व्यवस्था किस तरह की गयी? उन्होंने कहा कि राज्य की पूरी व्यवस्था चरमरा गयी है। घोष ने दावा किया कि ममता बनर्जी झूठ बोल रही हैं।

अपने मित्रों के साथ शेयर करें

You may have missed