November 26, 2020

सांभर झील में पक्षियों की मौत के बाद बढ़ी निगरानी

Spread the love

नई दिल्ली । राजस्थान की सांभर झील में 18 हजार पक्षियों की मौत के बाद दिल्ली-एनसीआर आने वाले प्रवासियों की सेहत की भी निगरानी की जा रही है। दिल्ली-एनसीआर में दर्जनभर से ज्यादा जगहों पर प्रवासी परिंदे हर साल हजारों किलोमीटर की दूरी तय करके पहुंचते हैं। पक्षी विशेषज्ञों की मानें तो अभी तक यहां आने वाले पक्षियों में किसी प्रकार की बीमारी के लक्षण नहीं दिखे हैं। बांबे नेचुरल हिस्ट्री सोसाइटी के दिल्ली शाखा के प्रमुख सोहेल मदान बताते हैं कि पक्षियों के आगमन और उनकी उड़ान पर ध्यान रखा जा रहा है। हालांकि, अभी तक किसी प्रकार का खतरा नजर नहीं आया है। वहीं, पक्षी विशेषज्ञ पंकज गुप्ता भी कहते हैं कि दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में पक्षियों के बीच अभी तक बीमारी के लक्षण नहीं दिखे हैं। इसके चलते ज्यादा संभावना इसी बात की है कि सांभर झील के खारे पानी की विशेष परिस्थितियों के चलते ही वहां पर यह घातक संक्रमण हुआ है। दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में कॉमन पोचार्ड, ब्लैक रेड स्टार्ट, व्हाइट कैप बंटिंग, ब्लू रॉक थ्रस, आरेंज हेडेड थ्रस, रेड क्रस्टेड पोचार्ड, टफ्टेड डक, बार हेडेड गीज जैसी कई प्रजातियों के पक्षी सर्दियों के समय प्रवास के लिए आते हैं।