April 12, 2021

अक्टूबर-दिसंबर में 37 प्रतिशत बढ़ा एफडीआई

Spread the love

नई दिल्ली । अक्टूबर-दिसंबर के दौरान भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) प्रवाह 37 प्रतिशत बढ़कर 26.16 अरब डॉलर हो गया, जो पिछले साल की समान अवधि के दौरान 19.09 अरब डॉलर था। भारत में विदेशी निवेश वित्त वर्ष के शुरुआती 9 महीने के दौरान अब तक का सबसे ज्यादा रहा है और पिछले साल की तुलना में 22 प्रतिशत बढ़कर 67.54 अरब डॉलर हो गया है। कोविड-19 के कारण अर्थव्यवस्था पर खराब असर पडऩे के बावजूद भारत में विदेशी निवेश बेहतर संकेत दे रहा है और इससे यह पता चलता है कि वैश्विक निवेशकों में भारत तरजीही निवेश केंद्र बना हुआ है। दिसंबर के दौरान एफडीआई प्रवाह 24 प्रतिशत बढ़कर 9.22 अरब डॉलर रहा है, जो दिसंबर 2019 में 7.46 अरब डॉलर था। वाणिज्य मंत्रालय ने कहा है कि सरकार की कवायद है कि एफडीआई नीति निवेशकों के अनुकूल रहे और नीतिगत खामियां दूर की जाएं, जो निवेश की राह में बाधा बनती हैं। अप्रैल-दिसंबर के दौरान इक्विटी क्षेत्र में विदेशी निवेश 40 प्रतिशत बढ़कर 51.37 अरब डॉलर हो गया, जो एक साल पहले 36.77 अरब डॉलर था। वाणिज्य मंत्रालय ने कहा ‎कि एफडीआई नीति में सुधार की दिशा में सरकार के कदमों, निवेश को सुविधा देने और कारोबार सुगमता की वजह से देश में एफडीआई प्रवाह बढ़ा है।

You may have missed