November 30, 2020

कवासी लखमा को अपमानित कर भाजपा का आदिवासी विरोधी चरित्र हुआ बेनकाब- संजय नेताम

Spread the love

गरियाबंद। भाजपा प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास के द्वारा सोशल मीडिया में आदिवासी मंत्री कवासी लखमा के छायाचित्र को एडिट कर शेयर कर अपमान करने की कांग्रेस ने कड़ी निंदा की। बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे संजय नेताम ने कहा कि लोकप्रिय वरिष्ठ आदिवासी नेता कवासी लखमा जी का अपमान भाजपा के नेता सड़क से लेकर सदन तक करते आ रहे हैं उनका उपहास उड़ाते हैं। भाजपा प्रवक्ता ने फोटोशाप का इस्तेमाल कर आदिवासी नेता की छवि धूमिल किया है ये आदिवासी नेता का अपमानए बस्तर का भी अपमान है। भाजपा प्रवक्ता ने फोटोशाप के जरिये आदिवासियों की छवि को शराब पीने वाले बनाने की साजिश की ही है साथ ही हिन्दु धर्म के रीति रिवाजो का भी अपमान किया है। सोशल मीडिया के जरिये भाजपा का आदिवासी विरोधी चरित्र हुआ बेनकाब। भाजपा प्रवक्ता ने फोटोशाप का दुरूपयोग कर आदिवासी नेता की छवि धूमिल करने की साजिश कर भाजपा ने खुद अपनी जड़ खोदने का काम किया है बस्तर से भाजपा अब समाप्त होगी।
कांग्रेस नेता संजय नेताम ने कहा है कि आरएसएस और भाजपा का वास्तविक चरित्र ही है जो सोशल मीडिया में हमेशा दिखता है जब आरएसएस और भाजपा से जुड़े लोग राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से लेकर देश के पूर्व प्रधानमंत्रियों सहित कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के फोटोशाप के जरिये अपमानित एवं उनका चरित्र हनन करते है। छत्तीसगढ़ भाजपा के प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास ने छत्तीसगढ़ शासन के मंत्री कवासी लखमा के छायाचित्र को एडिट कर करवाचैथ के पुण्य पर्व पर सोशल मीडिया में शेयर कर कवासी लखमा जी का अपमान तो किया ही है साथ ही पति की दीर्घायु एवं उन्नति के लिये करवाचैथ का व्रत रखने वाले बहनों का भी उपहास उड़ाया है।
संजय नेताम ने कहा कि राजनीति में विरोध लोकतंत्र का दिया हुआ अधिकार है लेकिन भाजपा ने लोकतंत्र के अधिकार का हनन करते हुए अपने कुटिल ओछी घृणित सोच को प्रचारित प्रसारित करने के लिए लोकतंत्र के मर्यादाओं को भी तार.तार किया है। भाजपा प्रवक्ता ने वही किया है जो भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें सिखाया पढ़ाया है। भाजपा प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास के द्वारा की गई हरकत के लिए छत्तीसगढ़ भाजपा जिम्मेदार है। भाजपा को इस ओछी हरकत के लिए करवाचैथ का व्रत रखने वाले बहनों से माफी मांगना चाहिए एवं आदिवासी समाज से भी माफी मांगना चाहिए आदिवासी समाज के वरिष्ठ नेता कवासी लखमा जी का जो अपमान हुआ है उसका बदला आदिवासी समाज चित्रकूट के उपचुनाव में लेगा भाजपा को उनकी करतूतों की सजा मिलेगी। बस्तर भाजपा मुक्त होगा।