July 24, 2021

केंद्रों से परिवहन जल्द नहीं हुआ तो यहां बंद हो सकती है धान खरीदी

Spread the love

महासमुंद. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के महासमुंद (Mahasamund) जिले में एक दिसंबर से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी (Paddy Purchase) की जा रही है. जिले में 81 समितियों के 127 धान खरीदी केन्द्रों के माध्यम से खरीदी की जा रही है. जिले में 1 लाख 34 हजार 600 सौ किसानों (Farmer) ने पंजीयन कराया है. एक दिसंबर से अभी तक 35 हजार 893 किसानों 1 लाख 59 हजार 480 मैट्रिक टन धान बेचा है और 127 धान खरीदी केन्द्रों से मात्र 2 हजार 990 मैट्रिक टन धान का परिवहन अभी तक हो पाया है. 1 लाख 56 हजार 490 मैट्रिक टन धान अभी भी धान खरीदी केन्द्रों में पड़ा हुआ है. शासकीय आंकड़ों पर गौर करें तो 127 धान खरीदी केन्द्रों में से 122 धान खरीदी केन्द्र ऐसे है जहां क्षमता से ज्यादा धान भण्डारित है.
धान खरीदी केन्द्रों का दौरा किया गया तो पता चला कि ग्रामीण सहकारी समिति झालखम्हरिया में 15 गांव के 1607 किसान पंजीकृत है और प्रति दिन लगभग 13 सौ क्विंटल धान बिकने के लिए आता है. समिति की क्षमता 13 हजार क्विंटल धान भण्डारण का है और अभी तक 18 हजार क्विंटल धान समिति में है. ऐसे में धान का परिवहन जल्द नहीं किया गया तो समिति प्रबंधक को धान खरीदी बंद करनी पड़ सकती है.
व्यवस्थापकों की चिंता बढ़ी