November 26, 2020

देश का दूसरा और छत्तीसगढ़ का पहला दृष्टिबाधित स्मार्ट क्लास जशपुर में स्थापित हुआ

Spread the love

जशपुर. देश का दूसरा और प्रदेश का पहला दृष्टिबाधित स्मार्ट क्लास (Blind Smart Class) छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के जशपुर (Jashpur) जिले में स्थापित हुआ है. जशपुर के गम्हरिया में समाज कल्याण विभाग (social welfare department) द्वारा संचालित विशेष विद्यालय के दृष्टिबाधित बच्चे (Visually impaired children) दिव्यांगता (Disability) को मात देकर अब ब्रेल लिपि (Braille script) की आधुनिक शिक्षा (Modern Education) हासिल करने के लिए एक नई उड़ान भरने लगे हैं.
ब्रेल लिपि सीख रहे दृष्टिबाधित बच्चे
दृष्टिबाधित बच्चों को ब्रेल लिपि की आधुनिक शिक्षा देने के लिए यहां एनी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस उपलब्ध कराया गया है. बच्चे इस डिवाइस के माध्यम से ब्रेल लिपि को बड़ी ही सहजता से पढ़ना और लिखना सीख रहे हैं. इस डिवाइस के जरिए उनके ब्रेल लिपि सीखने का उत्साह का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बच्चे खुद घंटों बैठकर इस डिवाइस का उपयोग कर रहे हैं.
ब्रेल लिपि की स्मार्ट क्लास के लिए अलग से एक विशेष कक्ष तैयार किया गया है, जहां 20 एनी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लगाया गया है. जशपुर प्रदेश का पहला ऐसा जिला है, जहां दृष्टिबाधित बच्चों के लिए जिला प्रशासन ने जिला खनिज न्यास निधि (डीएमएफ) मद से ब्रेल लिपि की शिक्षा की आधुनिक व्यवस्था सुनिश्चित की है.
किसी भी भाषा में ब्रेल लिपी सिख सखते हैं बच्चे
इस इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के माध्यम से दृष्टिबाधित बच्चे किसी भी भाषा में ब्रेल लिपी को सहजता से सीख सकते हैं. इस डिवाइस का प्रयोग ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों स्थिति में किया जा सकता है. यह डिवाइस ब्रेल टाइपराइटर और ब्रेल लिपि सीखने के वर्तमान माध्यम से कई गुना हाईटेक और सहज है.