November 26, 2020

खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई हो: भरत गौर

Spread the love

० मुख्यमंत्री से अपराधियों को सजा दिलवाने
फास्ट ट्रेक बनाने की मांग

 भिलाई नगर। छत्रपति शिवाजी सेना के पदाधिकारियों ने जिला एवं पुलिस प्रशासन से मांग की है कि खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वाले मिलावटखोरों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए। पदाधिकारियों ने खाद्य पदार्थों में मिलावट को सबसे जघन्य अपराध माना है।
   सेना के पदाधिकारियों भारत गौर, सोनूराम सिंह, मनीष जैन, आशु पांडे, जयदीप सिंह, जय गुप्ता, शेखर सोनकर, अजय केसरवानी, राजू यादव, भोला सिंह, जमुना सोनकर, गुल्लू श्रीवास्तव, मुन्ना चौरसिया, गणेश सोनकर, रजत गौर, हेमंत साहू, राजेश सहाने, वरिष्ठ अधिवक्ता अशोक यादव एवं अमर चोपड़ा ने संयुक्त बयान जारी कर कहा है कि खाद्य पदार्थों में मिलावट करना जहर परोसने के बराबर है। इससे लोगों की जान जा रही है। पदाधिकारियों का कहना है कि दूध में जिस  केमिकल का इस्तेमाल किया जा रहा है उससे छोटे-छोटे बच्चे मौत की आगोश में जा रहे हैं। 
 भरत गौर ने मध्यप्रदेश शासन की तर्ज पर छत्तीसगढ़ प्रदेश में भी एक फास्ट ट्रैक बनाने की मांग की है, जिससे मिलावटखोरों के विरुद्ध त्वरित कार्रवाई हो। पदाधिकारियों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मांग की है कि खाद्य पदार्थों में मिलावट को सबसे बड़ा अपराध माना जाए और इसमें लिप्त अपराधियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए, ताकि प्रदेश में मिलावटखोर बेनकाब हो सके और मिलावट पर रोक लग सके।