December 5, 2020

खेल के क्षेत्र में समुचित विकास के लिए विकसित की जा रही अधोसंरचना – मंत्री साहू

????????????????????????????????????

Spread the love

65 वीं राष्ट्रीय शालेय खेल प्रतियोगिता का समापन
 गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने विजेता प्रतिभागियों को किया पुरस्कृत
दुर्ग. भिलाई सेक्टर 2 भिलाई विद्यालय में आयोजित 65 वीं राष्ट्रीय शालेय खेल प्रतियोगिता का आज गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू के मुख्य आतिथ्य में विधिवत समापन हुआ। इस अवसर पर मंत्री श्री साहू ने विजेता प्रतिभागियों को शुभाशीष देते हुए कहा कि विभिन्न प्रान्तों से आये प्रतिभागियों एवं खेल शिक्षकों एवं अन्य अतिथियों का छत्तीसगढ़ की धरती में स्वागत है। खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने एवं खेल में रुचि रखने वाले प्रतिभागियों को अवसर देने के लिए अलग अलग योजनाओं के माध्यम से खेल प्रतियोगिता आयोजित की जाती है। राष्ट्रीय स्तर पर सभी प्रदेशों के प्रतिभागियों को अवसर देने के उद्देश्य से खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है।
मंत्री श्री साहू ने अपने विचार रखते हुए कहा कि खेल के क्षेत्र में समुचित विकास की आवश्यकता को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा खेल की अधोसंरचना बढ़ाने के साथ ही ट्रेनिंग एवं अन्य क्षेत्रों में भी कार्य किया जा रहा है। विभिन्न अवसरों पर खेल प्रतियोगिता का आयोजन होने से खेल प्रतिभागियों को अपने हुनर का प्रदर्शन करने का मौका मिलता है। साथ ही अन्य राज्य के खिलाड़ियों से मिलने का मौका मिलने के साथ ही अलग अलग राज्य की संास्कृतिक परंपरा से भी रूबरू होने का मौका मिलता है। बच्चे एक दूसरे से मिलकर एक दूसरे की नैसर्गिक प्रतिभा से भी अवगत होते है। खेल में जीत अर्जित करने वाले प्रतिभागियों को उन्होंने बधाई दी। साथ ही हारने वाले प्रतिभागियों को आने वाले समय में और बेहतर प्रदर्शन के लिए आशीर्वाद दिया। मंत्री श्री साहू ने अपने कर कमलों से विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया।
इस मौके पर जिला पंचायत सीईओ. श्री कुंदन कुमार ने कहा कि राष्ट्रीय शालेय खेल प्रतियोगिता के माध्यम से अनेक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रतिभागियों को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिला। वे हमेशा के लिए इस आयोजन की सुंदर स्मृतियां लेकर जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि 65 वीं राष्ट्रीय शालेय खेल प्रतियोगिता का आयोजन 12 जनवरी से किया गया था। जिसका आज समापन हुआ। इसमे 32 राज्य के 2 हजार से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। छत्तीसगढ़ राज्य को कबड्डी थ्रो बाल व योगमुंडो खेल आयोजन करने की जिम्मेदारी मिली थी।