April 13, 2021

गांधी जी के विचारों के अनुरूप बनाए विकास की नीति- भूपेश बघेल

Spread the love

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज नगर निगम दुर्ग के नवनिर्वाचित महापौर एवं सभापति के कार्यभार ग्रहण समारोह में शामिल हुए। उन्होंने महापौर और निगम के पदाधिकारियों को गांधी जी के विचारों पर आधारित विकास नीति बनाने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि शहरी विकास और शहरवासियों के जरूरतों को प्राथमिकता से पूरा करने का लक्ष्य रखे। मुख्यमंत्री ने दुर्ग नगर निगम के नवनिर्वाचित महापौर धीरज बाकलीवाल एवं सभापति राजेश यादव सहित सभी पार्षदों को बधाई और शुभकामनाएं दी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भी कोई योजना बनाएं, अंतिम व्यक्ति का चिंतन करें, गरीब और कमजोर आदमी को आपकी नीतियों से किस प्रकार प्रभाव पड़ेगा, आपके लिए रास्ता खुलता जाएगा और निर्णय लेना आसान हो जाएगा, यह महात्मा गांधी जी का संदेश था। उन्होंने दुर्ग शहर के विकास के लिए महापौर एवं उनकी टीम को भी इसी मंत्र को ध्यान में रखकर नीतियां बनाने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधोसंरचना से भी महत्वपूर्ण ऐसी नीतियां है, जिससे गरीब को सुख मिले, उसे आर्थिक संबल मिले, वो अपने पैरों पर खड़े हो सके। हमारी सारी नीतियां उन्हीं पर केंद्रित हैं। उन्होंने कहा कि शहरों में मजदूर पूरा समय रोजी मजदूरी में लगा देते हैं, उनके पास समय नहीं होता कि वे अस्पताल जाएं। इसे ध्यान में रखते हुए हमने मुख्यमंत्री शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत ईलाज की सुविधा चौखट तक पहुंचाने की व्यवस्था की है, इसके साथ ही हाट बाजारों में हेल्थ कैंप भी शुरू किए है। मुख्यमंत्री नेे अपने चेन्नई प्रवास के बारे में बताया कि मुझसे प्रभु चावला जी ने साक्षात्कार में पूछा कि 2500 रुपए में धान खरीदी, कर्जमाफी इतना सब कैसे कर लिया। मैंने उन्हें बताया कि जब आप प्राथमिकता तय करते हैं तो उसके लिए रास्ता खुल ही जाता है। हमारे लिए स्वीमिंग पुल जैसी अधोसंरचनाओं की तुलना में किसान और मजदूर की बेहतरी ज्यादा मायने रखती है। इसका असर अर्थव्यवस्था पर भी पड़ता है। पूरे देश में मंदी है लेकिन छत्तीसगढ़ में इसका असर नहीं है। आटोमोबाइल में 25 प्रतिशत बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। टैक्सटाइल 30 प्रतिशत की दर से बढ़ा। मुख्यमंत्री ने महापौर से कहा कि अभी सबसे पहले शहरी क्षेत्र में गौठान का काम शुरू कराएं, फिर डाग हाउस भी बनाएं। छोटे-छोटे सरोकारों से बड़े-बड़े कामों का रास्ता खुलता है। स्वच्छता और शहरी स्वास्थ्य सबसे अहम विषय है। उन्होंने कहा कि नये महापौर और सभापति ऊर्जावान और सक्रिय हैं वे निश्चित ही निगम को नई ऊँचाइयों में ले जाएंगे।
इस मौके पर गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि दुर्ग को नये सिरे से संवारने की बेला आई है। निश्चित ही महापौर और उनकी टीम इसे आगे तक ले जाएगी। कृषि मंत्री श्री रवीन्द्र चौबे ने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लिए जो ‘गढ़बो नवा छत्तीसगढ़‘ का नारा दिया है। उसका असर दिख रहा है। विकास का मतलब गगनचुंबी इमारत नहीं होते, विकास का असल मतलब गरीबों की बेहतरी से है। इस मौके पर जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि प्रदेश के विकास का आधा बजट आम आदमी की बेहतरी के लिए खर्च हुआ है। पांच डिसमिल से कम जमीन की खरीद बिक्री पर लगी रोक हटा दी गई। टाटा की जमीन किसानों को वापस की गई। इस तरह के आम जनता के सरोकारों वाले काम से प्रदेश में खुशहाली बढ़ी है। इस मौके पर विधायक अरूण वोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हमेशा से दुर्ग शहर के विकास की गहरी चिंता की है और कुछ समय पूर्व ही 81 करोड़ रुपए के कार्यों का शुभारंभ कराया। महापौर धीरज बाकलीवाल ने इस मौके पर अपनी प्राथमिकता बताते हुए कहा कि शहर की सुंदरता और स्वच्छता को लेकर पूरे मनोयोग से कार्य करेंगे। इस अवसर पर पूर्व विधायक प्रदीप चौबे, श्रीमती प्रतिमा चंद्राकर, भजन सिंह निरंकारी, पूर्व महापौर श्रीमती चंद्रिका चंद्राकर, शंकरलाल ताम्रकार सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed