July 23, 2021

मस्जिद में मंत्रोच्चारण के साथ हिन्दू जोड़े की शादी, सीएम ने भी दी बधाई

Spread the love

अलप्पुझा. केरल ही एक मस्जिद ने सामाजिक सौहार्द की नई मिसाल पेश की है, जहां हिन्दू रीति-रिवाजों से जोड़े की शादी कराई गई. एकता के लिए नजीर बनी यह घटना अलप्पुझा जिले के कयामकुलम की है जहां अंजू की मां अपनी बेटी की शादी के लिए पैसे जुटाने में असमर्थ थी तो मस्जिद कमेटी ने आगे आते हुए उसकी शादी कराने का फैसला लिया.

मस्जिद ने दिया दो लाख का तोहफा

दरअसल, अंजू और शरत एक-दूसरे से शादी करना चाहते थे लेकिन अंजू के घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी. ऐसे में अंजू की मां ने स्थानीय चेरुवल्ली जमात कमेटी से संपर्क कर उनकी मदद मांगी जिसपर मस्जिद कमेटी तुरंत तैयार हो गई. रविवार को मस्जिद परिसर में बाकायदा सात फेरे लेते हुए दूल्हा-दुल्हन शादी के बंधन में बंध गए.

सीएम ने बताया एकता की मिसाल

शादी पूरी तरह से हिन्दू मान्यताओं के अनुसार ही की गई और मंत्रोच्चारण के साथ दंपति पवित्र रिश्ते में बंध गए. मस्जिद कमेटी की ओर से इस मौके पर करीब एक हजार लोगों की दावत का आयोजन भी किया गया जिसमें शाकाहारी भोजन परोसा गया. यही नहीं मस्जिद कमेटी की ओर से दुल्हन को शादी के तोहफे के तौर पर दस गोल्ड गिफ्ट और दो लाख रुपये नकद भी दिए गए हैं.

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने शादी की फोटो ट्विटर पर शेयर करते हुए नवदंपति को बधाई दी. उन्होंने लिखा, ‘केरल से एकता का एक उदाहरण, चेरुवल्ली जमात कमेटी ने हिन्दू रिवाजों से आशा और शरत की शादी कराई है. मां की अपील के बाद मस्जिद उनकी बेटी की शादी के लिए आगे आई, नवदंपति, परिवार, मस्जिद कमेटी और चेरुवल्ली के लोगों को बधाई.’

देश के कई हिस्सों से धार्मिक भेदभाव और हिंसा की घटनाओं के बीच मस्जिद में हिन्दू रीति-रितावों से आयोजित की गई यह शादी समाज के लिए एक मिसाल है. साथ ही ऐसे और कदम समाज को जोड़ने और भाईचारे को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed