January 26, 2021

बजट में बढ़ाई गई बैंक खाता धारकों के लिए बीमा सुरक्षा की सीमा

Spread the love
नई दिल्ली । बजट में सरकार ने बैंक खाता धारकों के लिए बीमा सुरक्षा एक लाख रुपए से बढ़ाकर 5 लाख रुपए करने का निर्णय लिया है। अगर बैंक डूबेगा, तो आपकी 5 लाख तक की जमा रकम आपको वापस मिल जाएगी, इतनी रकम सुरक्षित रहेगी। पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) के खाता धारकों के सामने पैदा हुए संकट को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।
ज्ञात हो कि पिछले साल सितंबर में पीएमसी बैंक का कामकाज बंद हो गया था। इससे हजारों जमाकर्ताओं के पैसे फंस गए थे। अश्विन पारेख अडवाइजरी सर्विसेज के प्रॉपराइटर अश्विन पारेख ने कहा पीएमसी बैंक संकट के मद्देनजर डिपॉजिट कवर दोगुना करने से बैंक खाताधारकों को बड़ी राहत मिलेगी। बहरहाल, इस मोर्चे पर वित्तमंत्री ने उम्मीद से ज्यादा दिया है। सुरक्षित जमा राशि अब एक लाख की बजाय 5 लाख रुपए होगी। इस मुद्दे पर सरकार व आरबीआई को भारी आलोचना का सामना करना पड़ा था।
अब तक डीआईसीजीसी एक्ट 1961 के तहत एक लाख रुपए तक की जमा रकम पर इंश्योरेंस कवर है और अगर बैंक डूब जाए तो इस लिमिट से आगे की जमा रकम की वापसी की गारंटी नहीं है। यह कम्पनसेशन तय किए हुए 25 साल से ज्यादा हो चुके हैं। डिपॉजिट कवर बढ़ाने का मुद्दा फाइनेंशियल रिजॉल्यूशन एंड डिपॉजिट इंश्योरेंस बिल के समय उठा था, जिसे पिछली सरकार ने 2017 में पेश किया था। हालांकि अगले ही साल बिल संसद से वापस ले लिया गया। क्रॉस कंट्री डिपॉजिट इंश्योरेंस कवरेज लिमिट के डेटा से पता चलता है कि भारत में डिपॉजिट इंश्योरेंस कवरेज 1508 डॉलर का है, जबकि अमेरिका में यह 250,000 डॉलर और ब्रिटेन में 111,143 डॉलर का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.