November 26, 2020

कांकेर जिले में हर साल होगा ’’लयांग-लयोर करसाना पण्डुम’’: भूपेश बघेल

Spread the love

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कांकेर जिले के भानुप्रतापपुर में आयोजित ‘‘लयांग-लयोर करसाना पण्डुम’’ जिला स्तरीय शारीरिक, बौद्धिक एवं सांस्कृतिक क्रीड़ा प्रतियोगिता के समापन समारोह में शामिल हए। इस अवसर पर उनके द्वारा 79 करोड़ 64 लाख 04 हजार रूपये के 202 कार्यों का भूमि पूजन एवं 05 करोड़ 36 लाख 99 हजार रूपये के 02 कार्यों को लोकार्पण भी किया गया, साथ ही 02 हजार 202 हितग्राहियों को 11 लाख 89 हजार रूपये के विभिन्न सामग्रियों का वितरण भी किया गया।

समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि वार्षिक परीक्षा के बाद मार्च-अप्रैल माह में बस्तर ओलंपिक का आयोजन किया जायेगा। ‘‘लयांग-लयोर करसाना पण्डुम’’ में शामिल सभी युवाओं एवं छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि कांकेर जिले में हर साल इस प्रकार के आयोजन किये जाएंगे। रायपुर में आयोजित नेशनल ट्रायबल डांस फेस्टिवल की उल्लेख करते हुए उन्हांने कहा कि इसमें 25 राज्य 06 केन्द्र शासित प्रदेश और 06 देशों के लोक कलाकारों ने अपनी लोक संस्कृति एवं कला का प्रदर्शन किया, जिससे छत्तीसगढ़ का देश और विदेश में एक विशेष पहचान बनी है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सांस्कृतिक रूप से समृद्ध प्रदेश है, यहां की संस्कृति और प्रकृति को हमें बचाना और बढ़ाना भी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के विकास में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी, हमंे समृद्ध छत्तीसगढ़ बनाना है। राज्य की उन्नति और प्रगति में भावी पीढ़ी की योगदान को सुनिश्चित करने के लिए सुपोषण योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। बच्चों एवं महिलाओं के पोषण स्तर में सुधार हो रहा है। स्वस्थ छत्तीसगढ़ के निर्माण से ही समृद्ध छत्तीसगढ़ का निर्माण होगा। उन्होंने बताया कि हाट बाजार क्लिनिक योजना से ग्रामीणों को बाजार स्थल में ही ईलाज की सुविधा दी जा रही है। मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान चलाया जा रहा है, हर आदमी अपना जांच कराये एवं उपचार पाएं और बस्तर को मलेरिया मुक्त करने में सहभागी बनें।
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बताया कि धान खरीदी की अवधि 15 फरवरी से बढ़ाकर 20 फरवरी कर दिया गया है। धान खरीदी में अंतर की राशि 685 रूपये किसी ने किसी योजना से किसानों के खाता में डाला जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर संभाग में कनिष्ठ चयन बोर्ड का गठन किया गया है, जिसके माध्यम से स्थानीय युवाओं को तृतीय एवं चतुर्थ वर्ग के पदों पर भर्ती की जायेगी। समारोह को संबोधित करते हुए छत्तीसगढ़ विधानसभा के उपाध्यक्ष श्री मनोज सिंह मण्डावी ने कहा कि 17 वर्षो बाद इस प्रकार के आयोजन भानुप्रतापपुर में हो रहा है, जिसमें सभी लोगों ने अपनी भागीदारी निभाई है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस अवसर पर दुर्गूकोंदल विकासखण्ड के ग्राम पर्रेकोड़ो में 66 लाख रूपए की लागत से बनने वाले शासकीय हाई स्कूल भवन एवं ग्राम कोदापाखा में 01 करोड़ 11 लाख रूपए की लागत से बनने वाले शासकीय हाई स्कूल भवन, कोयलीबेड़ विकासखण्ड के ग्राम ऐसेबेड़ा में 01 करोड़ 21 लाख रूपए की लागत के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भवन तथा पी.व्ही-32 अंबेडकर नगर पखांजूर में 75 लाख रूपए की लागत के हाई स्कूल भवन, पी.व्ही-55 में पुल पुलिया सहित 01 करोड़ 99 लाख रूपए की सड़क निर्माण, भानुप्रतापपुर विकासखण्ड के ग्राम भोडि़या में 01 करोड़ 30 लाख रूपए की लागत के शीतला मंदिर भोडि़या मार्ग का निर्माण, दुर्गकोंदल में 01 करोड़ 24 लाख रूपए से बनने वाले ट्राजिस्ट हास्टल निर्माण तथा ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग कांकेर द्वारा 110 लाख रूपए के 20 हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर का निर्माण, जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतों में 02 करोड़ 23 लाख रूपए के 114 नवीन गौठान का निर्माण, वनमण्डल कांकेर तथा भानुप्रतापपुर पूर्व व पश्चिम में 03 करोड़ 72 लाख रूपए के 52 रोटेशनल ग्रेजिंग कार्य, 10 करोड़ 06 लाख रूपए के कोरर से हवरकोंन्दल मार्ग निर्माण एवं संधारण कार्य, 06 करोड़ 48 लाख रूपए के भानबेड़ा से उंचपानी पहंुच मार्ग निर्माण, 06 करोड़ 36 लाख रूपए के बोगर से हाटकोंन्दल मार्ग निर्माण एवं संधारण, 08 करोड़ 64 लाख रूपए के चबेला मार्ग निर्माण एवं संधारण, 10 करोड़ 27 लाख रूपए के चिचगांव से मूल्ला मार्ग निर्माण, 03 करोड़ 66 लाख रूपए के संबंलपुर डांगरा रोड़ से कराठी मार्ग निर्माण, 04 करोड़ 16 लाख रूपए के भानबेड़ा से हाटकर्रा मार्ग निर्माण एवं संधारण, 09 करोड़ 59 लाख रूपए के बरबसपुर मार्ग निर्माण और 05 करोड़ 02 लाख रूपए के कोडेकुर्से से भुरका मार्ग निर्माण एवं संधारण कार्य का भूमि पूजन किया गया। मुख्य मंत्री श्री बघेल द्वारा इस अवसर पर 01 करोड़ 05 लाख रूपए की लागत से दुर्गकोंदल में निर्मित छात्रावास भवन और 04 करोड़ 31 लाख 56 हजार रूपये की लागत से बनाये गयेे अंतागढ़ आवर्धन जल प्रदाय योजना का लोकार्पण भी किया गया। इस अवसर पर उनके द्वारा 183 हितग्राहियों को नगरीय क्षेत्र में प्रचलित आबादी भूमि का पट्टा एवं 18 हितग्राहियों को गैर रियायती नजूल पट्टे का वितरण किया गया, साथ ही 02 हजार हितग्राहियों को कंबल वितरण और 01 नक्सल पीडि़त परिवार के आश्रित को शासकीय सेवा मे नियुक्ति पत्र भी प्रदाय किया गया।
समारोह में कांकेर विधानसभा क्षेत्र के विधायक शिशुपाल शोरी, अंतागढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक अनूप नाग, संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी, नगर पंचायत भानुप्रतापपुर के अध्यक्ष सुनील बबला पाढ़ी, बस्तर एवं दक्षिण क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के सदस्य बिरेश ठाकुर, जिला पंचायत सदस्य हेमन्त धु्रव सहित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, जनप्रतिनिधिगण एवं छात्र-छात्राएं व आमनागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.