November 24, 2020

अरपा नदी में रक्त बहने की खबर से मचा हडक़ंप

Spread the love

बिलासपुर । हम अपनी पवित्र नदियों को लगातार मैला और प्रदूषित कर रहे हैं। बिलासपुर भी इसका अपवाद नहीं है। यहां की जीवनदायिनी अरपा नदी को गटर बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई है। शहर भर का कचरा इसी नदी में डाला जाता है । जवाली नाला और अन्य नालों के मुंह भी अरपा नदी में ही खोल दिए गए हैं लेकिन लग रहा है जैसे इसके बाद भी कोई कसर रह गई हो। तभी तो सिम्स का गंदा पानी यहां तक कि पोस्टमार्टम के बाद निकलने वाले खून और अन्य विषाक्त तत्वों को भी अरपा नदी में ही मिलाने की खबर के सामने आने पर तहलका मच गया। पिछले दिनों सोशल मीडिया पर यह खबर वायरल हो गई कि सिम्स के पोस्टमार्टम कक्ष से जुड़ा पाइपलाइन अरपा नदी में खुलता है। ऐसा इसलिए कहा गया क्योंकि लोगों ने अरपा नदी में लाल रंग का पानी घुलते देखा । इसके बाद ही खबर आग की तरह फैल गई कि सिम्स के पोस्टमार्टम रूम से निकलने वाला पानी अरपा नदी में बहाया जा रहा है। इस खबर के वायरल होते ही पर्यावरण संरक्षण विभाग और स्वास्थ्य विभाग के आला अफसरों के होश उड़ गए। आनन-फानन में एक टीम का गठन किया गया जो शनिवार को सच्चाई जानने अरपा नदी के तट पर पहुंची। इस टीम के साथ जिला अस्पताल और सिम्स के डॉक्टर सहित जेडी डॉक्टर मधुलिका सिंह भी मौजूद थी, जिन्होंने सिम्स से होकर रिवरव्यू के नीचे से निकल रहे पाइपलाइन की जांच की। हालांकि उन्हें शनिवार को नदी में लाल रंग का पानी कहीं नहीं मिला। जबकि सोशल मीडिया में वायरल हुए खबर के अनुसार अरपा नदी में पोस्टमार्टम का प्रदूषित पानी, खून, मेडिकल वेस्टेज नाली के रास्ते से अरपा नदी में बहाने का दावा किया गया था। टीम ने आसपास मौजूद लोगों से भी पूछताछ की। इसके बाद चौंकाने वाले खुलासे हुए। पता चला कि पास में ही एक टेंट हाउस है जहां टेंट के कपड़े नदी में ही धोए जाते हैं। लाल रंग के कपड़े से निकलने वाला रंगीन पानी अरपा नदी में बहाया जाता है, जिसके कारण नदी में अक्सर लाल रंग का पानी नजर आता है। किसी को इसी रंग के चलते पानी में खून मिले होने का भ्रम हो गया और सोशल मीडिया पर झूठी खबर वायरल हो गई। हालांकि शुरुआती जांच में आरोप को निराधार पाया गया है लेकिन फिर भी जांच टीम ने पानी का सैंपल इक_ा कर लिया है जिसकी जांच रिपोर्ट से ही स्पष्ट हो पाएगा कि अरपा नदी के पानी में कहीं मानव रक्त तो नहीं मिल रहा। वैसे इस खबर के वायरल होने के बाद से आसपास के लोगों में दहशत का माहौल है, जिसका समाधान भी रिपोर्ट के आने के बाद ही हो सकेगा।