July 23, 2021

113वें दिन हवाई सुविधा जनसंघर्ष समिति के सदस्य बैठे रहे धरने पर

Spread the love

बिलासपुर । अखण्ड धरना के 113वें दिन धरने में पूर्व निर्धारित बिलासपुर प्रायवेट स्कूल एसोसिएषन के अपरिहार्य कारणों से उपस्थित न होने से हवाई सुविधा जनसंघर्श समिति के सदस्यों ने ही धरना दिया। समिति ने यह घोशणा की कि आगामी 2 मार्च को महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के बिलासपुर प्रवास के दौरान उन्हें मिलकर बिलासपुर में हवाई सुविधा की बाधांए दूर करने हेतु ज्ञापन सौपा जायेगा। इसके लिए समिति षीघ्र ही जिला प्रषासन को प्रतिनिधिमण्डल के लिए समय दिलाने हेतु औपचारिक निवेदन भेजेगी।
गौरतलब है कि बिलासपुर एयरपोर्ट से महानगरों तक सीधी हवाई सुविधा के लिए चल रहे 113 दिन पुराने जनआंदोलन ने अबतक कई पडाव हासिल किये है जबकि कुछ बाधाएं अभी भी ष्ेाश है। जिन बाधाओं को दूर किया जाना है, उनमें केन्द्र सरकार द्वारा उडान योजना में लगायी गयी 600 किलोमीटर की सीमा को हटाना प्रमुख है अन्यथा 600 किलोमीटर से अधिक की यात्रा में इस योजना के तहत मिलने वाली सब्सिडी उपलब्ध नहीं होगी। इस कारण ही बिलासपुर से कलकत्ता (622 किलोमीटर), हैदराबाद (655 किलोमीटर), दिल्ली (907 किलोमीटर), मुंबई (1050 किलोमीटर) एवं अन्य सभी महानगरों तक इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। सब्सिडी के अभाव में एयरलाईन कंपनियां भी आकर्शित नही हो रही है, इसलिए ही उडान 4.0 स्कीम में बिलासपुर से केवल भोपाल ओैर प्रयागराज के लिए ही हवाई सुविधा मिलने की संभावना है। इसके साथ ही एयरपोर्ट के रनवे के 2500मीटर तक विस्तार के लिए सेना से भूमि प्रयोग की अनुमति आवष्यक हैं, महामहिम राश्ट्रपति सभी सेना के प्रमुख होते है इसलिए भी उन्हें इस कार्य के लिए ज्ञापन दिया जाना यथोचित है।
आज की सभा में बोलते हुये पूर्व पार्शद नरेन्द्र रामटेके ने कहा कि बिलासपुर को हमेषा संघर्श के रास्ते से ही सफलता मिलती है और आज इस लडाई में बिलासपुर ही नही पूरे जिले और संभाग के लोग षामिल है। उन्होने कहा कि सालों से हवाई सुविधा न होने के कारण बिलासपुर में कई बडी कंपनियों के कार्यालय, बडे होटल, बडे अस्पताल और बडे षिक्षा संस्थान न खुल पाये है। हवाई सुविधा होने से वे अवष्य ही यहां ख्ुालेगे और रेाजगार के नये साधन बनेगे। कांग्रेस नेता अनिल षुक्ला ने कहा कि बिलासपुर में झारसुगडा और रायपुर के जैसा बडा और पूर्ण विकसित एयरपोर्ट बनना चाहिए। इस हेतु लगभग रू 100 करोड की राषि केन्द्र सरकार को प्रदान करनी चाहिए। वर्तमान में राज्य सरकार द्वारा दिये गये रू 27 करोड से संपूर्ण विकास संभव नहीं है। यह विशय केन्द्र सरकार का है और उसे ही यह मांग पूरी करनी चाहिए।
बिल्हा क्षेत्र से चुनाव लड चुके राजेन्द्र षुक्ला ने कहा कि एयरपोर्ट बनने की स्थिति में यह बिल्हा विधानसभा के लिए गौरव का कारण होगा। आज बिलासपुर का हाईकोर्ट और अंतरराज्यीय बस अड्डा पहले से ही इसी विधानसभा का हिस्सा हैं। षुक्ला ने जोर देकर संघर्श समिति के सदस्यों को इस बात के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया कि वे निस्वार्थ भाव से 113 दिनों से इस आंदोलन को चला रहे है। सभा को संजय पिल्ले, मनोज श्रीवास, केषव गोरख, गोपाल दुबे ओैर राघवेन्द्र सिंह ने भी संबोधित किया। सभा का संचालन महेष दुबे -टाटा ने किया। आज के आंदोलन में अषोक भण्डारी, बद्री यादव, देवेन्द्र सिंह, केषव गोरख, पप्पू तिवारी, भुट्टो राज, मनीश षुक्ला, लल्लू निर्मलकर, अभिशेक चौबे, राजेष चौहान, रषीद बख्ष, टेस करीम, पवन पाण्डेय, भुवनेष्वर षर्मा, गुलाम दास, बालगोविन्द अग्रवाल, एम.आर.षेख, कप्तान खान, कमल सिह, नरेष यादव एवं सुदीप श्रीवास्तव उपस्थित थे।