July 23, 2021

संयंत्र द्वारा संचालित सीएसआर गतिविधियों से भी रूबरू हुए इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान 

Spread the love

“नए ओर बेनेफिसिएशन संयंत्र” की आधारशिला रखी

भिलाई. पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस एवं इस्पात मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान जी ने अपने भिलाई प्रवास के दूसरे दिन 21 फरवरी, 2020 को भिलाई इस्पात संयंत्र की खनि नगरी राजहरा पधारे। उनके साथ सेल चेयरमैन श्री अनिल कुमार चैधरी, निदेशक (कमर्शियल) श्रीमती सोमा मंडल, निदेशक (कार्मिक) श्री अतुल कुमार श्रीवास्तव, निदेशक (प्रोजेक्ट्स व बिजनेस प्लानिंग) तथा बीएसपी के सीईओ श्री अनिर्बान दासगुप्ता एवं संयंत्र के कार्यपालक निदेशक (खदान एवं रावघाट) श्री मानस बिस्वास सहित सेल-बीएसपी के वरिष्ठ अधिकारीगण भी राजहरा पहुँचे। राजहरा आगमन पर खदान बिरादरी ने इस्पात मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान जी का भव्य स्वागत किया।

कार्यक्रम की कड़ी में सर्वप्रथम मंत्री महोदय ने राजहरा में सप्तगिरि उद्यान में वृक्षारोपण किया। तत्पश्चात् उन्होंने राजहरा के विभिन्न खदानों का भ्रमण किया और लौह अयस्क उत्खनन की तकनीकी और खनन प्रक्रियाओं से रूबरू हुए।

राजहरा प्रवास के दौरान इस्पात मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान जी ने संयंत्र को आपूर्ति किए जाने वाले लौह अयस्क की गुणवत्ता में और अधिक सुधार हेतु लौह अयस्क परिसर में स्थापित किए जा रहे “नए ओर बेनेफिसिएशन” संयंत्र का शिलान्यास किया।

माननीय मंत्री महोदय ने राजहरा स्थित बीएसपी आदिवासी छात्रावास में संयंत्र द्वारा गोद लिए गए आदिवासी छात्रांे से आत्मीय मुलाकात करते हुए उनके अध्ययन की जानकारी ली। इसी प्रकार रावघाट व राजहरा के वनाँचल क्षेत्रों से बीएसपी के सीएसआर गतिविधियों के तहत प्रतिवर्ष गोद लिए जाने वाले बीस नर्सिंग छात्राओं से मुलाकात की। विदित हो कि संयंत्र द्वारा इन आदिवासी बच्चों को निःशुल्क शिक्षा, आवास व भोजन एवं पाठ्य सामग्री आदि प्रदान की जाती है। माननीय मंत्री जी अंतागढ़ में संयंत्र एवं डीएव्ही द्वारा संचालित अंग्रेजी माध्यम स्कूल के छात्रों और शिक्षिकाओं से भी मिले।

इसके अलावा माननीय मंत्री जी ने राजहरा में भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा और आसपास के क्षेत्रों तथा रावघाट में किए गए सीएसआर गतिविधियों पर एक प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होंने बीएसपी द्वारा लगाई गई इस प्रदर्शनी की भरपूर सराहना की। साथ ही उन्होंने माइंस में चल रहे सीएसआर गतिविधियों और कार्यों की जानकारी प्राप्त की। इस दौरान इस्पात मंत्री श्री प्रधान जी ने माइंस के श्रमिक संगठनों के पदाधिकारियों से मुलाकात कर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।