March 2, 2021

केशकाल के किसानों का धान लिया जा रहा, तो कवर्धा के किसान कौन सा पाप किए हैं

Spread the love

टोकन कट चुके किसानों की धान लेने हजारों किसान कर रहे आंदोलन।
कवर्धा। भारतीय किसान संघ के बैनर तले जिले के हजारों किसान धान खरीदी की मांग कर रहे हैं। इन किसानों के नाम का टोकन तो कट गया है, लेकिन धान खरीदी नहीं हो पाई है। आंदोलन कर रहे किसानों का कहना है कि केशकाल में जिन किसानों का टोकन कट गया है, उनका धान लिया जा रहा है, तो कवर्धा जिला के किसान कौन सा पाप किए हैं।
वन, पर्यावरण एवं आवास मंत्री तथा कवर्धा विधायक मो. अकबर के कार्यालय के सामने धान खरीदी की मांग के साथ नगाड़ा बजाने जा रहे किसानों को पुलिस ने रानी दुर्गावती चैक पर ही बेरीकेट्स लगाकर रोक दिया। जिससे किसान आक्रोशित हो गए और वहीं सड़क पर बैठकर नारेबाजी करने लगे। लेकिन संख्या बल में कमजोर होने तथा पुलिस की तगड़ी सुरक्षा व्यवस्था के चलते पुलिस के सामने किसानों की एक न चली।
धान खरीदी की मांग के साथ जिले भर के किसान कलेक्ट्रेट के मुख्य दरवाजा के पास 6 दिनों से धरना दे रहे है। विभिन्न गांवों से आए किसान लोग सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी भी कर रहे हैं। लेकिन सरकार के नुमाइंदे द्वारा अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई हैं, जिससे किसान आंदोलन का लंबा होने के साथ साथ विस्तार भी होता जा रहा है।
धरना में शामिल किसानों का कहना है कि किसानों के समस्याओें की ओर शासन द्वारा ध्यान नहीं दिए जाने के विरोध में किसानों ने सोमवार को विधायक कार्यालय के सामने नंगाड़ा बजाने का निर्णय लिया था। लेकिन पुलिस ने बीच में ही बेरीकेट्स लगाकर उन्हें रानी दुर्गावती चैक पर ही रोक दिया। इससे नाराज होकर किसान वहीं सड़क पर बैठ गए और शासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा व जिलाध्यक्ष कैलाश चंद्रवंशी के साथ आंदोलनरत किसानों ने कहा कि शासन प्रशासन द्वारा किसानों का धान बेचने के लिए 4 माह पहले ही पंजीयन किया गया था। पंजीयन के बाद धान बेचने के लिए टोकन भी जारी कर दिया गया। उसी टोकन के साथ किसान अपना धान लेकर सोसायटियोें में 20-22 दिनों से पड़े हैं, लेकिन आज तक धान खरीदी नहीं गई है और सोसायटियों में ताला लगा हुआ है।
बोड़ला में 72 व परसवारा में 28 घंटे से चक्काजाम
रायपुर जबलपुर राष्ट्रीय राज मार्ग के बोड़ला में 72 घंटे से किसान चक्काजाम कर धान खरीदी नहीं करने का विरोध प्रदर्शन कर रहे है। इस दौरान बीती रात अचानक मौसम ने करवट बदल ली और ओले के साथ तेज बारिश भी होने लगा। लेकिन किसानों का हौसला जरा भी नहीं डिगा। वे पूरी रात भीगते हुए धरना स्थल पर डटे रहे। वहीं कवर्धा पंडरिया मुख्य मार्ग में ग्राम परसवारा के पास भी भींगते हुए बारिश में सैकड़ों किसान चक्काजाम कर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।
———-