December 5, 2020

कोरोना वायरस को लेकर गुजरात में कई अति महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए

Spread the love

 मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में गांधीनगर में हुई उच्चस्तरीय बैठक
अहमदाबाद| मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उप मुख्यमंत्री नितिनभाई पटेल की अध्यक्षता में शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास पर हुई उच्चस्तरीय बैठक में दुनिया भर में फैले कोरोना वायरस की वर्तमान परिस्थिति में गुजरात में सतर्कता और सावधानी के अग्रिम कदम उठाने के साथ ही गरीब श्रमजीवियों सहित आम नागरिकों के लिए संवेदनशील निर्णय लिए गए हैं। मौजूदा हालात में गरीब और सामान्य परिवारों को खाद्यान्न आपूर्ति सहित जीवन निर्वाह में कोई मुश्किल ने पड़े उसके लिए एपीएल (गरीबी रेखा से ऊपर) तथा बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) कार्डधारकों को सरकारी मान्यता प्राप्त सस्ते अनाज की दुकानों पर सार्वजनिक वितरण व्यवस्था के तहत एक महीने का अनाज एडवांस में देने का संवेदनशील निर्णय किया गया है।
स्वास्थ्य राज्य मंत्री कुमार कानाणी, मुख्य सचिव डॉ. अनिल मुकीम, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलाशनाथन, प्रधान सचिव एम.के. दास, सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचिव कमल दयानी, स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव डॉ. जयंति रवि और मुख्यमंत्री के सचिव अश्विनी कुमार की उपस्थिति में आयोजित इस बैठक में लिए गए अन्य महत्वपूर्ण निर्णयों के अनुसार राज्य सरकार के समाज कल्याण और महिला एवं बाल कल्याण विभाग की मासिक सहायता (पेंशन) प्राप्त करने वाले निराधार, वृद्ध, विधवा माताओं तथा दिव्यांगों आदि को एक महीने की अग्रिम पेंशन देने का निर्णय भी मुख्यमंत्री ने किया है। कोरोना वायरस का प्रकोप राज्य में और न बढ़े तथा ज्यादा लोग संक्रमित न हों उसे ध्यान में रखते हुए बैठक में यह भी निर्णय किया गया है कि राज्य सरकार के दफ्तरों में 29 मार्च, 2020 तक पूर्वानुमति-अपॉइन्टमेंट के सिवाय तथा महत्वपूर्ण न हो ऐसे कार्यों के लिए आगंतुकों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। जिला स्तर के जनसेवा केंद्रों पर लोग अपने कार्यों के लिए बड़ी संख्या मे जाते हैं, तब उसके चलते भी कोरोना वायरस का संक्रमण न फैले इसलिए इन जनसेवा केंद्रों को भी बंद किया गया है। राज्य में रेस्तरां और होटलों में खान-पान की वस्तुओं की काउंटर डिलीवरी या टेक होम डिलीवरी की जाएगी। ऐसे रेस्तरां-होटलों में अंदर बैठकर खानपान नहीं किया जा सकता। राज्य में दवाई, किराना और अत्यावश्यक चीज-वस्तुओं की बिक्री के अलावा अन्य वस्तुओं के लिए शॉपिंग मॉल बंद रखने के निर्देश भी दिए गए हैं। आगामी रविवार, 22 मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा की गई जनता कर्फ्यू की अपील का समर्थन करते हुए गुजरात में राज्य परिवहन बस सेवाओं सहित नगरों एवं महानगरों में स्थानीय तंत्र द्वारा संचालित शहरी परिवहन सेवाओं, बीआरटीएस, एएमटीएस आदि सेवाएं सुबह 7.00 से रात 9.00 बजे तक बंद रखी जाएगी। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने जनजागरूकता, सतर्कता और सावधानी के साथ केंद्र एवं राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों का अनुसरण करते हुए इस वैश्विक महामारी का बिना भय के सामना करने का भी अनुरोध किया है।
चेतना/20 मार्च