July 24, 2021
Spread the love

17 दिनों से नहीं बदली पेट्रोल-डीजल की कीमत
नई दिल्ली। ऑयल कंपनियां पेट्रोल-डीजल के दाम में बदलाव नहीं कर रही हैं। 16 मार्च को जो दाम थे, आज भी वही बने हुए हैं। गुरुवार को लगातार 17वें दिन देश में पेट्रोल और डीजल की कीमत में कोई बदलाव नहीं हुआ है।
यानी आज ग्राहकों को एक लीटर पेट्रोल व डीजल के लिए बुधवार वाली कीमत ही चुकानी होगी। कोरोना वायरस पूरी दुनिया के लिए चिंता का विषय बन चुका है। भारत में इसके मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इसके मद्देनजर भारत में 14 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है। लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे। सड़कों पर काफी कम गाडिय़ां दिखाई दे रही हैं। इसका सीधा असर पेट्रोल-डीजल की मांग पर पड़ा है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में जनवरी 2020 के बाद से करीब छह रुपये प्रति लीटर की ही गिरावट आई है।
प्रमुख महानगरों में दाम
दिल्ली, कोलकाता मुंबई और चेन्नई में एक लीटर पेट्रोल की कीमत क्रमश: 69.59, 73.30, 75.30 और 72.28 रुपए है। एशियाई बाजारों में कच्चे तेल की कीमतें सोमवार को 17 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई। अमेरिका में वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट 5.3 फीसदी गिरकर 20 डॉलर प्रति बैरल पर और अंतरराष्ट्रीय मानक ब्रेंट क्रूड 6.5 फीसदी गिरकर 23 डॉलर पर आ गया। दरअसल, कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए दुनिया भर में सरकारें लॉकडाउन का सहारा ले रही हैं और यात्रा प्रतिबंध लागू किए गए हैं, जिसके चलते कच्चे तेल पर भारी दबाव है। इसकी मांग में कमी आई है।

कभी भी बढ़ सकती है कीमत
मालूम हो कि सरकार ने कानून में संशोधन कर पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में आठ रुपये प्रति लीटर तक की वृद्धि करने का अधिकार हासिल कर लिया है। यानी भविष्य में भविष्य में पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में आठ रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी की जा सकती है। इसका सीधा असर आम आदमी पर पड़ेगा क्योंकि उन्हें एक लीटर पेट्रोल व डीजल के लिए ज्यादा पैसे चुकाने होंगे।

1 thought on “कच्चे तेल के दाम में भारी कटौती

Leave a Reply

Your email address will not be published.