June 12, 2021

15 को हटेगा लॉकडाउन? मोदी से मीटिंग के बाद अरुणाचल CM का दावा, फिर डिलीट किया ट्वीट

Spread the love

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के खतरे के कारण देश में लागू किए गए 21 दिनों के लॉकडाउन को लेकर गुरुवार को बड़ी खबर आई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर चर्चा करने के बाद अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने दावा किया कि लॉकडाउन 15 अप्रैल को खत्म हो सकता है. लेकिन ट्वीट करने के कुछ देर बाद ही उन्होंने इसे हटा दिया और बाद में एक सफाई पेश की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक की एक वीडियो साझा करते हुए पेमा खांडू ने लिखा, ‘लॉकडाउन 15 अप्रैल को पूरा हो जाएगा, लेकिन इसका मतलब ये नहीं होगा कि लोग सड़कों पर घूमने के लिए आजाद होंगे. कोरोना वायरस के असर को कम करने के लिए हर किसी को जिम्मेदारी लेनी होगी. लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग इससे लड़ने के ही उपाय हैं’. इस ट्वीट को डिलीट करने के बाद पेमा खांडू ने एक और ट्वीट किया, जिसमें खंडन लिखा था. नए ट्वीट में पेमा खांडू ने लिखा, ‘लॉकडाउन के समय को लेकर किया गया पिछला ट्वीट एक ऑफिसर ने किया था, जिसकी हिंदी की समझ काफी लिमिटेड है. इसलिए ट्वीट को हटा दिया गया’. आपको बता दें कि गुरुवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर बात की थी. इस दौरान कोरोना वायरस के संकट, लॉकडाउन और मौजूदा हालात पर बात की गई थी. ये दूसरी बार है जब पीएम मोदी ने कोरोना वायरस के मसले पर मुख्यमंत्रियों से बात की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत के दौरान कई राज्यों ने अपनी-अपनी दिक्कतों को गिनाया. इसमें कई मुख्यमंत्रियों ने राज्यों की बकाया राशि को देने की अपील की, तो वहीं कुछ ने लॉकडाउन खत्म होने की तारीख पूछी. बता दें कि इससे पहले भी लॉकडाउन को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि ये 21 दिनों से आगे के लिए भी बढ़ सकता है, जिसके बाद सरकार की ओर से सफाई पेश की गई थी कि अभी तक ऐसा कोई फैसला नहीं लिया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए 24 मार्च को 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया था, जो 14 अप्रैल तक जारी रहेगा. इस दौरान लोगों को घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है, बाजार-दफ्तर सबकुछ बंद रहेंगे. हालांकि, जरूरत के सामान की दुकानें खुली रहेंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.