June 12, 2021

गोल्डन एंपथी (जीई) फाउंडेशन ने देवरी के राहत शिविर मे 71 डेसरा में 69 और कुम्हारी में 31 ठहरे हुए इन मजदूरों को राहत दिलाने एसडीएम दिव्या वैष्णव के कहने पर दिया राहत सामग्री

Spread the love

दुर्ग -कोरोना वायरस संक्रमण के चलते देश में घोषित लॉक डाउन के चलते सबसे ज्यादा मजदूर वर्ग प्रभावित हुआ है। गोल्डन एंपथी (जीई) फाउंडेशन ने ऐसे ही वंचित मजदूर जो विभिन्न निर्माण कार्य में लगे मजदूरों को जिला प्रशासन ने देवरी में अस्थायी राहत शिविर बना कर रखा है। जहाँ 71 मजदूर हैं। इसी तरह मेंडेसरा में 69 और कुम्हारी में 31 लोग ठहरे हुए हैं। इन मजदूरों को राहत दिलाने एसडीएम दिव्या वैष्णव और तहसीलदार रामकुमार सोनकर के कहने पर जीई फाउंडेशन ने आज 3 अप्रैल को देवरी शिविर जाकर राहत सामग्री बांटी।
जिसमें 75 किलो चावल,50 किलो आटा,20 किलो दाल, 10 लीटर तेल,10 किलो नमक, मसाले, प्याज, आलू, एवं हरी सब्जी का वितरण किया गया। फाउंडेशन आगे भी विभिन्न राहत शिविरों में निरंतर सामग्री वितरण करेगा। फाउंडेशन का मानना है कि शहर के भीतर वंचित वर्गों के लिए विभिन्न संस्थाएं यथासंभव सहायता कर रही हैं लेकिन जिले के सीमावर्ती तथा विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में फंसे मजदूरों की तरफ भी ध्यान देना बेहद जरूरी है। आज राहत सामग्री उपलब्ध कराने हम मनीष टावरी, संजय मिश्रा, के विनोद, मृदुला शुक्ला औऱ श्रेयस कुमार के आभारी हैं, जिनकी वजह से मानव सेवा का यह अनुपम कार्य संपन्न हो पाया।