April 13, 2021

देवी काली की सवारी बताकर त्रिसूल-खप्पर लिए सड़क पर मचाया उत्पात, पुलिस ने पकड़ा तो

Spread the love

मुंगेली. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुंगेली (Mungeli) जिले में अंधविश्वास (blind faith) की जड़े काफी गहरी होती जा रही हैं. जिले में आये दिन ऐसे कई मामले सामने आते हैं, जिसमे अंधविश्वास के चलते कई लोगों की जान तक चली जाती है. ताजा मामला मुंगेली नगर का है, जहां देर रात अचानक सिटी कोतवाली में फोन की घण्टी बजी और जानकारी मिली कि एक युवक ने दो युवतियों के साथ हाथ मे तलवार लेकर मां काली की सवारी निकाली है. लगातार पूरे ताकत के साथ तलवार लहरा रहा है. यही नहीं सड़क किनारे वाहनों को भी नुकसान पहुंचा रहा है औऱ उसके इस हरकत से दाऊपारा इलाके में दहशत का माहौल है.

मुंगेली (Mungeli) की कोतवाली पुलिस (Police) जब मौके पर पहुंची तो देखा कि तलवार हाथ मे लेकर काली का रूप धर धर्म की आड़ में दहशत का माहौल बनाने में 1 युवक और 2 युवतियां जुटी हैं. तीनों खुद पर काली माता की सवारी आने की बात कहकर सड़क पर इधर से उधर बेतहाशा दौड़ रहे हैं, जिससे आसपास के लोग डर से घरों में घुस गये. देवी की खप्पर के नाम पर ये सारा ढोंग रचा जा रहा था.
कोतवाली प्रभारी आशीष अरोरा वहां तमाशा कर रहे सभी तीनों आरोपियों को कोतवाली लेकर पहुंचे औऱ जमकर लताड़ लगाई, जिसके बाद खुद को काली मां औऱ उसका भक्त बताने वाले अपने असली रंग में आकर माफी मांगने पुलिस के आगे गिड़गिड़ाने लगे. थाना प्रभारी आशीष अरोरा ने बताया कि खुद को देवी का अवतार बताने वालों से तलवार, त्रिशूल नकली बाल आदि सामानों की जब्ती पुलिस ने की. नगर में शांति व्यवस्था का ख्याल रखते धार्मिक उन्माद न फैले जिसके चलते आरोपियों से माफीनामा कराकर दुबारा गलती न करने के शर्त पर कई घंटे थाने में बैठाकर छोड़ा गया.

You may have missed