April 12, 2021

संगठित व जागृत समाज का उत्थान निश्चित है: राजेंद्र नाग

Spread the love


भिलाई- इतना तो स्पष्ट है कि हमारा समाज जाग चुका है, जागृत समाज का उत्थान निश्चित है लेकिन एक बात पर विशेष ध्यान देना होगा कि हम कितने अनुशासित और व्यवस्थित है। यदि हमारे द्वारा किए गए कार्य व व्यवहार अनुशासित और व्यवस्थित है तो हम अपने साथ-साथ अपने समाज का भी उत्थान कर पाएंगे।
ऐसे उदगार थे मुख्य वक्ता के रुप में पधारे अखिल भारतीय उड़िया समाज कार्यकारी अध्यक्ष एवं युवा साहित्यकार राजेंद्र नाग का जिन्होंने अखिल भारतीय उड़िया समाज के प्रदेश स्तरीय संगठन का परिचय सम्मेलन 28 फरवरी को दुर्ग कुनारी भरदा में आयोजित किया गया था।
अखिल भारतीय उड़िया समाज बैठक में दुर्ग भिलाई रायपुर मरोदा कुमारी चरौदा आहिवारा सहित अन्य स्थानों के प्रतिनिधि मंडल ने आकर इस बैठक में आवश्यक रूप से अपने वक्तव्य समाज को संगठित और सुदृढ़ बनाने हेतु अनेक सुझाव दिए। विशेष रुप से दयानिधि विभार ने समिति के नियम व उद्देश्य को प्रस्तुत किया। अर्जुन कुमार ने नशा मुक्ति और शिक्षा पर बल दिया। समाज को एक सूत्र में जोड़ने के लिए धरम हरिपाल ने एक ओज पूर्ण कविता के माध्यम से समाज को संगठित रहने का संदेश दिया। प्रदेश संगठन मंत्री रतन तांड़ी ने भी समाज के प्रति अपना लक्ष्य व शिक्षाप्रद प्रेरक विचार रखते हुए आभार व्यक्त किया। समाज के मीडिया प्रभारी उत्तम हरिपाल ने भी अपने विचार रखते हुए समाज को संगठित रहनै की बात कही‌।
कार्यक्रम का संचालन व स्वागत अखिल भारतीय उड़िया समाज के अध्यक्ष केदारनाथ महानंद ने किया।
इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्र से आए हुए प्रतिनिधियो को नियुक्ति पत्र प्रदान कर अखिल भारतीय उड़िया समाज को मजबूती प्रदान करनै का अनुरोध किया।
कार्यक्रम में सदाशिव सोना, अजीत सेनापति, हेमलाल नायक, दर्शन नायक, चंदन बाग सुभाष नायक गांधी तांडी राजू तांडी आशीष नंदा दयानिधि विभार दीपक सोना धरम हरिपाल, उत्तम हरिपाल चित्रुतांडी,उमेश दीप टेकचंद, सेठिया लखपति सोना धर्मेंद्र सिक्का मनोज दीप,सुरेश बाग रघुनाथ बाग अर्जुन नायक किशोर तांडी दिलीप तांडी, चेतन दीप डीएस सोना दीनबंधु तांडी शरद कुमार लाल जुरु कुमार शंकर निहाल दयाराम बाग राधेश्याम नायक निराकार निहाल अपद बाग राजू नायक प्रदीप हरपाल अर्जुन कुमार संजू कुमार कृष्णा तांडी गोलु तांडी, मुकेश नायक जुगमत बारिक, कृष्ण कुमार सोना विपिन जाल अमितेश कुमार विक्रम तांडी नरेश नाग सहित बड़ी संख्या में समाज के सदस्यगण आदि शामिल थे।

You may have missed