November 26, 2020

पितरों का सम्मान हमारी परम्परा और संस्कृति का अहम् हिस्सा-मुख्यमंत्री बघेल

Spread the love

रायपुर. मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या के अवसर पर अपने संदेश में कहा कि पितर पक्ष पूर्वजों के प्रति हमारे सम्मान, प्रेम और श्रद्धा का प्रतीक है। पितरों का सम्मान हमारी परम्परा, सभ्यता और संस्कृति का अहम हिस्सा रहा है। पितर पक्ष के दौरान हम अपने पूर्वजों के मोक्ष और शांति के लिए श्राद्ध करते हैं और उनसे जीवन में खुशहाली के लिए आशीर्वाद की कामना करते हैं। श्री बघेल ने कहा कि हमारे पूर्वज जो धरोहर छोड़ गए हैं, उसे सहेजने और संवारने की जिम्मेदारी हम सबकी है। हम अपने पूर्वजों को सामाजिक सरोकारों से जोड़कर उनको श्रद्धासुमन अर्पित कर सकते है। उन्होंने कहा कि अपने पूर्वजों के नाम पर हम वृक्षारोपण कर पर्यावरण संरक्षण सहित शिक्षा,स्वास्थ्य के क्षेत्र में गरीब और बेसहारा लोगों की मदद कर सकते हैं। अपने आस-पड़ोस में महिलाओं और बच्चों में कुपोषण दूर करने में सक्रिय भागीदारी निभा सकते हैं। सही मायनों में यह अपने पितरों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

You may have missed