November 24, 2020

माला के लिये अब दिल्ली नहीं है दूर, आईएएस की कोचिंग के लिए एक लाख रूपये मंजूर

Spread the love

जन चौपाल में मुख्यमंत्री ने एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत की

रायपुर. मुंगेली की रहने वाली माला पांडेय का ख्वाब है कि वह दिल्ली में रहकर भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) की कोचिंग करे और आईएएस में चयनित होकर देश की सेवा करे। कल तक माला की राह में अनगिनत अड़चने थी। दिल्ली दूर है का वाक्या हर वक्त उसके जेहन में था। पेशे से वाहन चालक पिताजी की कमाई से घर का खर्च तो चल जाता है, लेकिन माला के सपनों को पूरा कर पाने में परिजन सक्षम नहीं थे। ऐसे में आज आयोजित जन चौपाल में माला ने मुख्यमंत्री को अपनी आईएएस बनने की दिली इच्छा को जब बताया तो प्रदेश के मुखिया श्री भूपेश बघेल ने बेटियां पढ़ेगी तो आगे बढ़ेंगी इस संदेश को चरितार्थ करते हुये मुंगेली जिले से आई माला पांडेय की फरियाद पल में ही पूरी कर दी और पढ़ाई में पूरा ध्यान लगाकर सफल होने की शुभकामनाएं भी दी।

मुंगेली की रहने वाली कुमारी माला पाण्डेय ने बीए स्नातक की पढ़ाई 73 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण किया है। अब वह आईएएस की कोचिंग करके प्रशासनिक सेवा में जाना चाहती है। माला ने बताया कि उसका बचपन से ही आईएएस में जाने का सपना है। घर परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से वह दिल्ली में कोचिंग के लिये नहीं जा पा रही है। उसने बताया कि उसके पिताजी श्री विजय पाण्डेय निजी वाहन चालक के रूप में कार्य करते है। घर में एक भाई एवं दो छोटी बहन है। उसकी जिम्मेदारी भी पिताजी पर है। ऐसे में दिल्ली जाना उसके बस की बात नहीं थी। आज मुख्यमंत्री श्री बघेल से मुलाकात के बाद एक लाख रूपए की आर्थिक सहायता की स्वीकृति मिलने पर माला का उत्साह और उम्मीदें बढ़ गई हैं। माला ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने उसकी मांग को पूरी कर उसे आगे बढ़ने का अवसर दिया है। वह भी अच्छे से कोचिंग कर परीक्षा में सफल होकर मुख्यमंत्री से मिले आशीर्वाद और आर्थिक सहायता का सदुपयोग करेगी।