July 24, 2021

संयंत्र स्तरीय निबंध प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण समारोह संपन्न

Spread the love

एसीडब्ल्यूई के रमेश रहे प्रथम तथा सामान्य स्थापना के अंजनी रहे द्वितीय.
प्रथम व द्वितीय आने वाले निबंध को नराकास स्तरीय प्रतियोगिता हेतु भेजा जाएगा.

भिलाई। सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के राजभाषा विभाग द्वारा 20 जुलाई, 2021 को इस्पात भवन द्वितीय तल स्थित सभागार में आयोजित निबंध प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में भिलाई इस्पात संयंत्र के महाप्रबंधक (संगठन एवं पद्धतियां), सुब्रत प्रहराज, उप महाप्रबंधक (संपर्क व प्रशासन एवं प्रभारी राजभाषा), सौमिक डे व निर्णायकगण उप महाप्रबंधक (मानव संसाधन विकास), अमुल्य प्रियदर्षी एवं वरिष्ठ प्रबंधक (जनसंपर्क), सत्यवान नायक उपस्थिति रहे। कार्यक्रम का संचालन राजभाषा विभाग के सहायक प्रबंधक (संपर्क एवं प्रशासन-राजभाषा), जितेन्द्र दास मानिकपुरी द्वारा किया गया।
विदित हो कि नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति के सदस्य संस्थान बीएसएनएल द्वारा “कोविड के दौरान बीएसएनएल से उपभोक्ताओं की अपेक्षाएं” विषय पर नराकास स्तरीय निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। इसी तारतम्य में भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा इस प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रविष्टियां भेजने हेतु संयंत्र स्तरीय निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया। इस प्रतियोगिता में प्रथम व द्वितीय पुरस्कार पाने वाले निबंध को इस नराकास स्तरीय प्रतियोगिता हेतु भेजा जाएगा। इसके तहत संयंत्र स्तरीय प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाले रमेश कुमार नायक, सीनियर टेक्नीशियन, एसीडब्ल्यूई विभाग तथा द्वितीय पुरस्कार प्राप्त करने वाले अंजनी कुमार द्विवेदी, कनिष्ठ स्टाफ सहायक, सामान्य स्थापना विभाग की प्रविष्टियों को नराकास स्तरीय निबंध प्रतियोगिता हेतु भेजा जाएगा।
इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि की आसंदी से सुब्रत प्रहराज, महाप्रबंधक (संगठन एवं पद्धतियां), भिलाई इस्पात संयंत्र ने निबंध प्रतियोगिता के विजेता कार्मिकों को बधाई दी एवं उनके विचारों की सराहना करते हुए कहा कि हिंदी हमारी राजभाषा है, भिलाई इस्पात संयंत्र में कार्यरत सभी कर्मचारी एवं अधिकारीगण हिंदी भली-भांति समझते हैं, बोलते और लिखते हैं। हमें अपने कार्य में हिंदी का सर्वाधिक प्रयोग करना चाहिए।
उप महाप्रबंधक (संपर्क व प्रशासन एवं प्रभारी राजभाषा), सौमिक डे ने सभी अतिथियों व निर्णायकों एवं प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए कहा कि भारत सरकार, गृह मंत्रालय, राजभाषा विभाग द्वारा जारी वार्षिक कार्यक्रम के अनुसार कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। हिंदी का हमें शत-प्रतिशत प्रयोग करना है ताकि संवाद व संप्रेषण बेहतर हो सके।
कार्यक्रम के आरम्भ में माननीय अभ्यागत अतिथियों एवं निर्णायकों का राजभाषा विभाग द्वारा पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया गया। कार्यक्रम में राजभाषा विभाग के सहायक प्रबंधक (संपर्क एवं प्रशासन-राजभाषा), जितेन्द्र दास मानिकपुरी ने निबंध प्रतियोगिता के बारे में संक्षिप्त रूपरेखा प्रस्तुत की।सर्वप्रथम प्रतियोगिता के निर्णायकगण उप महाप्रबंधक (सी एंड आईटी), संदीप झा, उप महाप्रबंधक (मानव संसाधन विकास), अमुल्य प्रियदर्षी एवं वरिष्ठ प्रबंधक (जनसंपर्क), सत्यवान नायक, को स्मृति चिन्ह भेंट कर मुख्य अतिथि द्वारा सम्मानित किया।
प्रतियोगिता में प्रदर्शन के आधार पर 21 प्रतियोगियों को पुरस्कार प्रदान किए गए। प्रथम पुरस्कार विजेता रहे रमेश कुमार नायक, सीनियर टेक्नीशियन, एसीडब्ल्यूई, द्वितीय पुरस्कार विजेता रहे अंजनी कुमार द्विवेदी, कनिष्ठ स्टाफ सहायक, सामान्य स्थापना एवं तृतीय पुरस्कार विजेता रहे अनिल कुमार अग्रवाल, सीनियर टेक्नीशियन, सीएचएम-1 सभी पुरस्कार विजेताओं को मुख्य अतिथि द्वारा पुरस्कार प्रदान किया गया।
निबंध प्रतियोगिता में सांत्वना पुरस्कार विजेता कार्मिक इस प्रकार रहे ओम प्रकाश, सीनियर टेक्नीशियन, रेल एंड स्ट्रक्चरल मिल, श्रीमती स्मिता जैन, सहायक महाप्रबंधक, वित्त एवं लेखा, मनोज कुमार सिंह, चार्जमेन, ऊर्जा प्रबंधन विभाग।
प्रतियोगिता के पुरस्कार वितरण समारोह के निर्णायक उप महाप्रबंधक (मानव संसाधन विकास), अमुल्य प्रियदर्षी ने कहा कि, प्रत्येक प्रतिभागी विजेता है व भाग लेना अधिक महत्वपूर्ण है, पुरस्कार जीतना अधिक महत्वपूर्ण नहीं है। वरिष्ठ प्रबंधक (जनसंपर्क), सत्यवान नायक ने भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को बधाई देते हुए कहा कि सभी प्रतिभागियों के निबंध अत्यंत उत्कृष्ट व प्रशंसनीय रहे। उन्होंने प्रतिभागियों को, निबंध लेखन हेतु आवष्यक टिप्स भी प्रदान किये।
कार्यक्रम में मनोज सोनी (कनिष्ठ अनुवादक सह समन्वयक) ने आभार प्रदर्शन किया। कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए कार्यक्रम में सामाजिक दूरी के नियमों का पालन किया गया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में राजभाषा विभागीय टीम की भूमिका सराहनीय रही।