November 25, 2020

पुरानी गंजमंडी दुर्गोत्सव में प्रेम मंदिर की झांकी होगी आकर्षण का केंद्र 5 अक्टूबर को होगा कवि सम्मेलन

Spread the love

दुर्ग। शहर के सबसे प्राचीन दुर्गोत्सव समिति श्री गंजपारा दुर्गोत्सव समिति पुरानी गंजमंडी का यह 52 वां वर्ष है। 29 सितम्बर से 7 अक्टूबर तक यहां उत्सव मनाया जाएगा। दुर्गोत्सव के संरक्षक मंडल एवं पदाधिकारी व सदस्यों की बैठक में तैयारी की चर्चा की गई। इस बार दुर्गोत्सव के दौरान वृन्दावन की प्रमुख मंदिर प्रेम मंदिर की झांकी बनाया गया है, जिसमें वृन्दावन की मंदिर की तरह झांकी को तैयार किया गया जो दर्शनार्थियों के बीच काफ ी आकर्षण का केंद्र रहेगा। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार समिति द्वारा 29 सितंबर रविवार प्रात 9 बजे पुरानीगंज मंडी से माताजी की शोभायात्रा निकालकर प्रतिमा गंजमंडी में विराजित की जाएगी। समिति द्वारा इस वर्ष सांस्कृतिक आयोजन की श्रृंखला में 3 अक्टूबर गुरुवार रात्रि 9 बजे से पुरानी गंजमंडी में छत्तीसगढ़ी कार्यक्रम रंग सरोवर गरियाबंद की प्रस्तुति का आयोजन रखा गया। इसी क्रम में समिति अपनी परंपराओं के अनुकूल अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन 5 अक्टूबर शनिवार रात्रि 9 बजे पुरानी गंजमंडी में आयोजित है। जिसमें आमंत्रित कविगण दिनेश रघुवंशी ओज फ रीदाबाद, सुश्री सबीना अदीब गीत गजल लखनऊ, कुमारी कविता तिवारी वीर रस दिल्ली, अखिलेश द्विवेदी हास्य व्यंग, सुंदर मालेगांवी हास्य व्यंग, राम भदावर वीररस इटावा यूपी, अपनी कविताओं का पाठ करेंगे। 6 अक्टूबर रविवार 12 बजे अष्टमी हवन किया जाएगा। 8 अक्टूबर मंगलवार 12 बजे से मातारानी की प्रसादी महा भंडारा का आयोजन रखा गया है। 9 अक्टूबर बुधवार सुबह 10 बजे से माता रानी की विसर्जन यात्रा गंजपारा पुरानी गंजमंडी से नगर भ्रमण करते हुए विसर्जन हेतु प्रस्थान करेगी।
0000000000000000000000