July 23, 2021

युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने सात दिवसीय मशरूम उत्पादन प्रशिक्षण

Spread the love

जहरीले मशरूम की पहचान और उसमें लगने वाले कीट की दी गई जानकारी
मुंगेली।
जिले में युवा कृषकों की आत्मनिर्भरता को बढाने की दिशा में इंदिरा गांॅधी कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित कृषि विज्ञान केन्द्र, मुंगेली द्वारा ग्राम भथरी में युवा कृषकों के लिए मशरूम उत्पादन तकनीक पर सात दिवसीय कृषक प्रशिक्षण आयोजित किया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में 25 युवा कृषकों को मशरूम उत्पादन की विधि की विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। इस दौरान केन्द्र की विषय वस्तु विशेषज्ञ श्रीमति नेहा सारथी कृषि प्रसार के द्वारा उपस्थित युवा कृषकों को मशरूम क्या है, मशरूम उत्पादन में लगने वाले संसाधन ने मशरूम उत्पादन तकनीक पर चरणवार प्रायोगिक जानकारी दी। मशरूम उत्पादन से आर्थिक लाभ प्राप्त करने के विषय में बताया गया। प्रशिक्षण में उपस्थित युवा कृषकों को फिल्म के माध्यम से प्रदर्शन कर के सजीव जानकारी दी गई। मशरूम की स्वास्थ्य के प्रति उपयोगिता, जहरीले मशरूम की पहचान करना, उसमें लगने वाली कीट व्याधियों की पहचान एवं उनकी रोकथाम की जानकारी, उसके पौष्टिक, उत्पाद, उसके संरक्षण के उपाय आदि के बारे में विस्तार पूर्वक प्रशिक्षण दिया गया। मशरूम उत्पादन कर आर्थिक लाभ प्राप्त करने के विषय में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई तथा प्रयोगिक करके भी बताया गया। इस प्रशिक्षण में श्रीमति नेहा सारथी ने सभी युवा कृषकों के साथ मिलकर मशरूम के बैग तैयार करने के संबंध में जानकारी दी। प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षण प्राप्त कर युवा कृषक अपने परिवार अजीविका में उत्तरोत्तर वृद्धि करने के ओर गतिशील है। प्रशिक्षण को लेकर युवाओ में उत्साह है।
००००००००००००००००००००००००००००००००००