July 24, 2021

अपने रुख पर कायम हैं अमरिंदर सिंह, जब तक सिद्धू नहीं मांगते माफी; तब तक सीएम नहीं करेंगे मुलाकात

Spread the love

चंडीगढ़: कांग्रेस आलाकमान ने नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाकर मान लिया है कि लंबे समय से जारी विवाद खत्म हो गया है, लेकिन ऐसा होता दिख नहीं रहा है. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच चल रही जंग पर अभी संशय बना हुआ है. अब मुख्यमंत्री की तरफ से साफ कर दिया गया है कि जब तक सिद्धू माफी नहीं मांग लेते, तबतक वह कोई मीटिंग नहीं करेंगे.

अमरिंदर सिंह ने रखी है माफी की शर्त
सीएम अमरिंदर सिंह ने पंजाब प्रभारी हरीश रावत के सामने नवजोत सिंह सिद्धू के माफी मांगने की शर्त रखी थी. उन्होंने कहा था कि सिद्धू उनपर किए गए अपमानजनक हमलों के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगे.

‘पहले माफी फिर होगी मुलाकात’
पंजाब में जारी विवाद को लेकर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल सिद्धू और अमरिंदर सिंह के बीच होने वाली मीटिंग की अटकलों को खारिज किया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा अमरिंदर सिंह से मिलने के लिए समय मांगने की खबरें पूरी तरह झूठी हैं. कोई समय नहीं मांगा गया है. रुख में कोई बदलाव नहीं. सीएम तब तक उनसे नहीं मिलेंगे, जब तक सोशल मीडिया पर किए गए अपमानजनक हमलों के लिए सिद्धू सार्वजनिक रूप से माफी मांग लेते हैं.’

‘सांसदों-विधायकों के साथ लंच की योजना नहीं’
इसके साथ ही रवीन ठुकराल उन रिपोर्ट्स को भी खारिज किया, जिसमें कहा जा रहा है कि अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू को छोड़कर सभी कांग्रेस विधायकों और सांसदों को 21 जुलाई को अपने आवास पर लंच के लिए बुलाया है. रवीन ने ट्वीट कर कहा, ‘कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह 21 जुलाई को लंच पर सभी विधायकों और सांसदों को बुला रहे हैं, लेकिन ये खबर पूरी तरह गलत है. सीएम ने इस तरह के किसी लंच के लिए न तो योजना बनाई है और न ही आमंत्रण भेजा है.’

सिद्धू कैंप ने की अमरिंदर सिंह से माफी की मांग
इस बीच नवजोत सिंह सिद्धू के समर्थकों ने सीएम पर पलटवार किया है और कहा है कि माफी तो उन्हें मांगनी चाहिए, क्योंकि उन्होंने जनता के वादे पूरे नहीं किए हैं. सिद्धू के करीबी और जालंधर कैंट से विधायक परगट सिंह ने कहा, ‘कैप्टन अमरिंदर सिंह माफी की बात कर रहे हैं. यदि किसी को माफी मांगनी ही चाहिए तो वह खुद सीएम हैं, जो जनता से किए गए वादों को पूरा करने में असफल रहे हैं.’

You may have missed