May 13, 2021

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए करते हैं अदरक का सेवन, ऐसे पहचानें अदरक असली है या नकली

Spread the love

कोरोना के प्रकोप से बचे रहने के लिए आज हर कोई सावधानी बरतने के साथ अपनी इम्यूनिटी मजबूत बनाए रखने पर भी जोर दे रहा है। इम्यूनिटी को स्ट्रांग बनाए रखने के लिए खाए जाने वाले पौष्टिक भोजन की बात हो या काढ़े की, अदरक का इस्तेमाल दोनों ही चीजों में किया जाता है। अदरक न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाता है बल्कि इसका नियमित सेवन व्यक्ति को कई तरह के संक्रमण से भी दूर रखने में मदद करता है। लेकिन ऐसा तभी होता है जब बाजार से खरीदी जाने वाली अदरक असली होती है। जी हां आप बाजार से जो अदरक खरीदते हैं, जरूरी नहीं वो असली ही हो। नकली अदरक एक प्रकार की पहाड़ी जड़ होती है, जिसकी पहचान कर पाना मुश्किल होता है। आइए जानते हैं कैसे इन टिप्स की मदद से आप बड़ी आसानी से पहचान पाएंगे असली और नकली अदरक के बीच का फर्क।

पहाड़ी जड़ व अदरक के बीच का बड़ा अंतर-
अदरक और पहाड़ी जड़ दिखने में बिल्कुल एक जैसी लगती हैं। बावजूद इसके दोनों में एक बड़ा फर्क होता है। अगर आप अदरक को अपनी नाक के पास लाते हैं तो आपको उसकी बहुत तेज व तीखी खुशबू आती है, जो कि असली अदरक की पहचान होती है। वहीं नकली अदरक में खुशबू नहीं आती है। असली अदरक को आप थोड़ा सा चखकर भी देख सकते हैं। इसका स्वाद आपको बता देगा कि यह असली है या नकली।

अदरक के छिलके से करें पहचान-
अदरक खरीदने से पहले उसके छिलके उतारकर जरूर देखें। असली अदरक में नाखून चुभाने से उसका छिलका तुरंत उतर जाएगा और आपके हाथों में उसकी तीखी खुशबू रह जाएगी। लेकिन अगर अदरक का छिलका बहुत कठोर होता है तो आप उसे खरीदने से बचें क्योंकि वह अदरक नहीं है।

साफ अदरक से भी रहें दूर-
यदि आप मिट्टी लगी हुई अदरक की जगह साफ अदरक खरीदना ज्यादा पसंद करती हैं तो अपनी इस आदत को बदल डालें। यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाने के लिए एक जाल भी हो सकता है। दरअसल, आजकल दुकानदार अदरक को साफ करने के लिए एक प्रकार के एसिड का प्रयोग करते हैं। ऐसी अदरक एसिड से धुली होने के कारण दिखने में अधिक साफ नजर आती है। लेकिन यह साफ अदरक आपकी सेहत को बड़ा नुकसान भी पहुंचा सकती हैं।

You may have missed