January 19, 2021

कोरोना के नए स्ट्रेन से अमेरिका में दहशत, ब्रिटेन से आने वाले लोगों के लिए निगेटिव सर्टिफिकेट अनिवार्य

Spread the love

अटलांटा । कोरोना वायरस के कारण अपने तीन लाख से अधिक लोग खो चुका अमेरिका अब कोरोना के नए स्ट्रेन को लेकर सतर्क हो गया है। अमेरिकी प्रशासन ने ब्रिटेन से आने वाले सभी यात्रियों के लिए उड़ान से पहले कोरोना निगेटिव होने का सर्टिफिकेट अनिवार्य कर दिया है। अमेरिका से पहले भी कई देश ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया प्रकार सामने आने के बाद वहां से अपने यहां आने वाले यात्रियों के लिए प्रतिबंधों की घोषणा कर चुके हैं।
अमेरिकी बीमारी नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने कहा कि ब्रिटेन से आने वाले हवाई यात्रियों को अपनी यात्रा के तीन दिन के भीतर कोविड-19 मुक्त होने का प्रमाणपत्र हासिल कर परिणाम एअरलाइन को उपलब्ध कराना होगा। सीडीसी ने कहा कि इससे संबंधित आदेश पर शुक्रवार को हस्ताक्षर किए जाएंगे और यह सोमवार से प्रभावी होगा। ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिलने की खबर आते ही दुनियाभर में एहतियात बढ़ गए हैं। भारत उन देशों में शामिल है, जहां यूके से आने वाले यात्रियों की हवाई अड्डे पर ही सघन जांच की जा रही है।
उल्लेखनीय है कि म्यूटेशन के कारण कोरोना के नए स्ट्रेन बन रहे हैं। कोरोना के नए स्‍ट्रेन बेहद संक्रामक हैं। वैज्ञानिकों ने नए वायरस का नाम B.1.1.7. रखा है। अधिकारियों का कहना है कि यह वायरस 70 फीसदी ज्यादा तेजी से फैलता है। ब्रिटेन के कई हिस्‍से सख्‍त लॉकडाउन में चले गए हैं, जबकि वहां क्रिसमस का मौका है। नए वैरियंट पर अमेरिका, यूके समेत कई देशों में रिसर्च जारी है।
कोरोना वायरस के अत्याधिक संक्रमण वाले स्ट्रेन को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि यह वायरस के विकास का एक हिस्सा है। इसलिए, इस नए सुपरस्प्रेडर स्ट्रेन से घबराने की जरूरत नहीं है। डब्लूएचओ के आपातकालीन मामलों के प्रमुख माइक रेयान ने एक ऑनलाइन ब्रीफिंग में कहा कि इस मुद्दे पर पारदर्शिता का होना बहुत जरूरी है, जनता को जिस तरह से है, उसे बताना बहुत जरूरी है, लेकिन यह भी महत्वपूर्ण है कि यह वायरस के विकास का एक सामान्य हिस्सा है।