May 12, 2021

कर्नाटक- भाजपा बैठक में सीएम येदियुरप्पा के विरोध में उतरे 16 विधायक

Spread the love

बेंगलुरु। इन दिनों देश की सियासी हवा में बगावती तेवरों की बाढ़ सी आ गई है। मध्य प्रदेश में चल रही राजनीतिक उठापटक पर हर किसी की नज़र है, लेकिन इससे अलग कर्नाटक में भी सियासी ‘नाटक’ जारी है। गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के विधायकों की बैठक में कुछ विधायक खुले तौर पर मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के विरोध में आए हैं और उनके कामकाज के तरीके पर सवाल खड़े किए। बीते कई दिनों से कर्नाटक की भारतीय जनता पार्टी में खटपट की खबरें सामने आई हैं। इसी बीच मुख्यमंत्री येदियुरप्पा की तरफ से बैठक बुलाई गई थी। इनमें से 16 भाजपा विधायकों ने बीएस येदियुरप्पा के कामकाज पर सवाल खड़े किए, इसके अलावा उनके परिवार के दखल पर भी निशाना साधा। करीब 16 विधायकों ने कहा कि वह मुख्यमंत्री के खिलाफ खुले मंच पर नहीं बोलेंगे, लेकिन उनके साथ बैठक के दौरान वह जरूर इस मसले को उठाएंगे। बैठक में मुख्यमंत्री के खिलाफ माहौल ऐसा बना कि वो कुछ बोल ही नहीं पाए। लगातार हुई बहस की वजह से इस बैठक को जल्द रद्द कर दिया गया।
गौरतलब है कि फरवरी में दो भाजपा विधायकों ने पूर्व मुख्यमंत्री और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी से मुलाकात की थी। जिसके बाद भाजपा में बगावत के सुर सामने आए थे।
कुछ समय पहले कर्नाटक में कैबिनेट का विस्तार किया गया था, जिसमें दलबदलू नेताओं को सीएम बीएस येदियुरप्पा ने अपने मंत्रिमंडल में शामिल किया था। भाजपा के पुराने नेताओं को इसमें जगह नहीं मिल सकी थी, जिसके चलते अब वे बगावती रुख अपनाते हुए नजर आ रहे हैं। एक तरफ कर्नाटक की भाजपा सरकार खुद ही संकट का सामना कर रही है। दूसरी ओर मध्य प्रदेश से बगावत करके आए कांग्रेस के विधायक भी बेंगलुरु में ही रुके हुए हैं। मध्य प्रदेश कांग्रेस के करीब 22 विधायक इस्तीफा देकर बेंगलुरु आए हैं, कांग्रेस ने भाजपा पर इन विधायकों को बरगलाने का आरोप लगाया है।
विपिन/ ईएमएस/ 13 मार्च 2020